फिनटेक कंपनी की रीब्रांडिंग में सीखे टॉप सबक – UP News Express

UP News Express

Latest Online Breaking News

फिनटेक कंपनी की रीब्रांडिंग में सीखे टॉप सबक

😊 Please Share This News 😊

 

रीब्रांडिंग की शुरुआत करने से पहले एक फिनटेक कंपनी को यह समझना चाहिए कि इसे हल्के में नहीं लिया जा सकता है। भले ही यह नए लोगो के साथ आने या मार्केट में पूरी तरह से पोजिशनिंग बदलने की बात हो, सरल कुछ भी नहीं है। यह रीब्रांडिंग ही ब्रांड के भविष्य की ग्रोथ को आकार देने वाली है। रीब्रांडिंग का फैसला लेते समय कंपनी लीडरशिप को यह याद रखना होगा कि यह किसी एक विभाग या टीम की जिम्मेदारी नहीं है। इस प्रक्रिया में कंपनी से जुड़े हर एक सदस्य की भूमिका महत्वपूर्ण है।

रीब्रांडिंग का पूरा उद्देश्य यह सुनिश्चित करना है कि नई पहचान दर्शकों तक पहुंचे कि कुछ बदला जा रहा है। और, जब तक ऐसा नहीं होता, तब तक इस प्रक्रिया में सब शामिल नहीं हो सकते। आधुनिक फिनटेक ब्रांड के रूप में आपको यह याद रखना होगा कि आपके ग्राहक पैसिव नहीं हैं- हकीकत तो यह है कि वे बारीकियों पर ध्यान देते हैं। ब्रांड्स के साथ जुड़ने को लेकर सोच-समझकर निर्णय लेते हैं। इस वजह से अपने ब्रांड को नए जमाने के डिजिटल समाधान के रूप में पेश करने से आज के युग के मूल्य भी उसमें झलकने चाहिए।

फिनटेक के क्षेत्र में बढ़ती प्रतिस्पर्धा को ध्यान में रखते हुए किसी भी रीब्रांडिंग कैम्पेन को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि यह आपको सबसे अलग बनाता है और आपके द्वारा पेश किए जाने वाले समाधानों को सामने लाता है ताकि लोग बेहतर तरीके से उनके बारे में जान सकें। यहां कुछ ऐसे सबक दिए गए हैं, जिन्हें रीब्रांडिंग प्रक्रिया के दौरान हर फिनटेक ब्रांड को याद रखना चाहिए:

सबसे पहले, रीब्रांडिंग के मूल उद्देश्य पर स्पष्टता प्राप्त करें। रीब्रांड क्यों और अब क्यों, जैसे महत्वपूर्ण प्रश्न पूछें। इस बात पर ध्यान दें कि आप कैसे पहचाने जाना चाहते हैं, आपके टारगेट ऑडियंस और आपकी प्रतिस्पर्धा में कौन है। यह पूरे संगठन में सार्थक चर्चा का आह्वान करता है। आप अपने व्यक्तिगत विचारों और विचारों पर टिके रहने का रिस्क नहीं उठा सकते।

इन सवालों का व्यापक रूप से जवाब देने के लिए आपको गहन मार्केट डेटा और रिसर्च की आवश्यकता होती है। आपको यह सुनिश्चित करना होगा कि रीब्रांडिंग में निवेश करना फलदायी है। वैसे, किसी भी रीब्रांडिंग कैम्पेन का अंतिम उद्देश्य बाजार में हिस्सेदारी और व्यापार को बढ़ाना है, लेकिन स्ट्रैटजी को संख्याओं का साथ मिलना चाहिए। जब आपके पास सभी जवाब हों, तो एक स्ट्रैटजिक एडवायजरी फर्म से जुड़े, जो प्रक्रिया पर उसके इनसाइट्स और विशेषज्ञता के साथ पूरी कवायद को आगे बढ़ने में मदद कर सके।

उसके बाद, ब्रांड नाम को सही करने पर जोर दिया जाना चाहिए। प्रत्येक कंपनी एक विशिष्ट उद्देश्य के साथ आगे बढ़ती है। उनका एक लक्ष्य होता है जिसे वे अपने प्रोडक्ट्स और सर्विसेस के साथ हासिल करना चाहते हैं, जिससे उनके ग्राहकों के जीवन में बदलाव आता है। यदि कोई ब्रांड नाम यह प्रदर्शित करने में विफल रहता है कि संगठन क्या प्रदान कर रहा है, तो उसे तुरंत बदलना होगा क्योंकि यह उसके विकास में बाधा बन सकता है। इस वजह से ग्राहक संबंधों को मजबूत करने के अवसर के रूप में रीब्रांडिंग का इस्तेमाल करें। ब्रांड का नाम बदलते समय याद रखें कि इसे आपके टारगेट ऑडियंस की जरूरतें झलकती हैं। जेन जेड और मिलेनियल्स आपका टारगेट मार्केट हो सकता है, लेकिन अगर वे आपकी ब्रांड पहचान में तकनीकी शब्द को नहीं समझते हैं, तो वे इससे बाहर निकल जाएंगे। इस वजह से एक ऐसा नाम चुनें जो यह दर्शाए कि आप कौन हैं और वास्तव में आप किसके लिए खड़े हैं।

अंत में, आपको पूरी तरह से बदलाव करना होगा और अपने नए व्यक्तित्व को अपनाना होगा। रीब्रांडिंग के दौरान अपने पुराने स्वरूप को छोड़ना चुनौतीपूर्ण हो सकता है। यह विशेष रूप से नेतृत्व और ब्रांड से जुड़े संस्थापकों के लिए भी भारी हो सकता है। फिर भी लोग इसे स्वीकार करें, इसके लिए आपको अपने नए अवतार को अपनाना होगा। जब आप इस पर होते हैं, तो आपको यह सुनिश्चित करना होगा कि आपकी नई पहचान लोगों का आप पर पहले से मौजूद विश्वास और भरोसा को कम न कर दे। पुराने स्वरूप के मूल्यों और विरासत को अक्षुण्ण रखते हुए नई पहचान को गले लगाना एक चुनौती है। इस वजह से मीडिया और जनता के लिए आपके हर संचार में नई ब्रांड पहचान प्रमुखता से दिखनी चाहिए। यह आपका आत्मविश्वास दिखाएगा और आपको अपने ग्राहकों के साथ मजबूत संबंध बनाने में मदद करेगा।

अपनी रीब्रांडिंग यात्रा पर आप अपनी कंपनी के बारे में पहले की तुलना में अधिक सीखेंगे। इसी तरह जब आप एक फिनटेक कंपनी के रूप में अपना स्थान बदलते हैं तो आपके सबक और निष्कर्ष पूरी तरह से भिन्न हो सकते हैं। हालांकि, अगर कुछ विषयों का पालन किया जाता है, तो यह प्रक्रिया को केवल निर्बाध बना देगा।

संक्षेप में, यह स्पष्ट होना चाहिए कि किसी टेक्नोलॉजी कंपनी की सफल रीब्रांडिंग पूरी तरह से उसके डिजिटल सॉल्युशंस के बारे में नहीं है। इसमें ग्राहकों को समझना, आंतरिक और बाहरी दोनों तरह से संवाद करना और यह स्वीकार करना शामिल है कि आप कौन हैं।

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें 

स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे

Donate Now

[responsive-slider id=1466]

लाइव कैलेंडर

October 2021
M T W T F S S
 123
45678910
11121314151617
18192021222324
25262728293031
error: Content is protected !!