लिखो ऐसा की आपके लिखे को हर कोई पढ़ने पर बेबस हो जाए ,और आप काम ऐसे करो कि हर कोई लिखने के लिए बेबस हो जाए-इंजीनियर लख्मीचंद यादव। – UP News Express

UP News Express

Latest Online Breaking News

लिखो ऐसा की आपके लिखे को हर कोई पढ़ने पर बेबस हो जाए ,और आप काम ऐसे करो कि हर कोई लिखने के लिए बेबस हो जाए-इंजीनियर लख्मीचंद यादव।

😊 Please Share This News 😊

 

हम समाजवादी पार्टी के मैनेजमेंट सिस्टम को सुधारने के लिए सीधे-सीधे ही समाजवादी पार्टी को चेतावनी दे रहे हैं हम समझते है ये काम करना हमे छोड़कर किसी के लिए भी करना मुमकिन काम नही है।

ये लीखकर हम खुद अपनी बड़ाई नही कर रहे बल्कि हम एकदम कटु सत्य लिख रहे हैं अगर जिस भी किसी को अपनी ताकत का वहम हो वो ऐसा करके देख सकता है उसको उसका परिणाम तुरन्त के तुरन्त मिल जाएगा।

*दोस्तो;हमने अपने अब तक के संघर्षमय जीवन मे काम ही ऐसे हैरतअंगेज किये है* जिन्हें करना तो दूर की बात लोग उन्हें करने की सोच भी नही सकते ये भी हम अपने मुह से बड़ाई नही मार रहे बल्कि हम एकदम कटु सत्य लिख रहे हैं *ये कोई बड़ी लीला सुदर्शन चक्रधारी कर रहे हैं* उनकी के निर्देश पर ही हम जुल्म अत्याचार करने वालो से जंग लड़ रहे हैं नही तो इतने बड़े-बड़े लोगो से जंग लड़ने की हमारी औकात भी तो नही थी हमे ताकत सुदर्शन चक्रधारी दे रहे हैं तभी तो हम जिसका चाहते हैं उसका खेल खत्म कर देते हैं।

दोस्तो;हमने 4 जून 2019 को सिर्फ एक व्हाट्सएप्प मेसेज पर सपा के सबसे बड़े विदुआन नेता राजनीत के चाणक्य कहे जाने वाले प्रोफेसर रामगोपाल यादव जी को अपने घर दादरी बुलवा दिया था वही उस दिन करीब ढाई घण्टे तक रहे प्रोफेसर रामगोपाल यादव हमारे घर दादरी वही उस दिन हर किसी ने प्रोफेसर रामगोपाल यादव जी से सीधे खुले मैदान में की मुलाकात।

हम समाजवादी पार्टी की सरकार उत्तरप्रदेश में बनवाकर करोड़ो लोगो की उम्मीदो को पूरा करने का बहुत बड़ा सरहानीय कार्य कर सकते है तो ये कार्य हमे जरूर-जरूर करना चाहिए क्योकि ऐसा काम करना भी तो जनसेवा ही है।

दोस्तो;जब आपका जग में बड़ा नाम कायम होता है तो आपके रिश्ते भी वैसे ही बनते चले जाते हैं, और जब आपका नाम जग में खराब होता है तो खुद के रिश्ते भी लोग छोड़कर भाग जाते हैं इस लिए बोल चाल,चाल चलन व चरित्र पर आपका सबसे ज्यादा फोकश होना चाहिए अगर ये तीनो आपके बेदाग है तो तुम्हे कोई भी मात नही दे सकता।

पहले बुजुर्ग कहते थे जब रास्ते मे आपके पीछे कुत्ते भोके तो तुम उन्हें पत्थर मत मारो वो कुछ देर बाद स्वयं ही चुप्प हो जाएंगे,लेकिन आज वो सब नही चलता आज तो आपको कुत्तों को खिलाने के लिए जेब में बिस्कुट के पैकिट साथ रखने होंगे और जब कुत्ते आपके पीछे भोके तो आप उन्हें एक एक बिस्किट डाल दो वो अपने आप भोंकना बंद हो जाएंगे।

वैसे भी हम समाजसेवी है किसका किस तरह से पुख्ता इलाज करना है वो हम बहुत अच्छी तरह से जानते हैं क्योकि इस छेत्र में हम पीएचडी जो है।

जुल्म से ही निकलता है रहम* आप जितना ज्यादा जुल्म करोगे तो रहम भी उतना ही ज्यादा निकलेगा।

हिस्ट्रीशीटर,माफिया,दुर्दांत अपराधियो,झुण्डबाज़ों व सडयंत्रकारियो पर हमने बहुत जुल्म ढाए लेकिन साथ ही साथ हमने उनके चंगुल से असहाय,बेबस,लाचार,कमजोर,

गरीबो,अफसरों,कर्मचारियों को छुड़ाकर बड़े लेवल पर उन सबकी मदद करके साहसिक काम किया और पुण्य भी कमाया।

जब हम दिन रात एक करके आप सभी के हितो के लिए मजबूती से लड़ाई को लड़ रहे हैं तो मानवता के नाते आप सबको भी संगठन से जुड़कर संगठन का आर्थिक सहयोग करना चाहिए।

संघर्ष और जनसेवा है हमारा लक्ष्य।

 

इंजीनियर लख्मीचंद यादव राष्ट्रिय अध्य्क्ष भारतीय जनसेवा मिशन सम्पर्क-9927530581।

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें 

स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे

Donate Now

[responsive-slider id=1466]

लाइव कैलेंडर

May 2022
M T W T F S S
 1
2345678
9101112131415
16171819202122
23242526272829
3031  
error: Content is protected !!