लापरवाही छूपाने के लिए जेईयों का झूठा दोषारोपण,विधानसभा के बत्तमीज जेई से समझौता क्यूं?? – UP News Express

UP News Express

Latest Online Breaking News

लापरवाही छूपाने के लिए जेईयों का झूठा दोषारोपण,विधानसभा के बत्तमीज जेई से समझौता क्यूं??

😊 Please Share This News 😊

विधानसभा क्षेत्र के जितने जेई है नही ऊठाते किसी का फोन अगर उठ भी गया तो बत्तमीजी से करते बात जनता है त्रस्त।

जूनियर इंजीनियर की हाईडील में धरना दे देने से क्षेत्र में की जा रही लापरवाही को समझौता कर देना उचित नहीं।

जौनपुर ब्यूरो चीफ,, सुनील मिश्रा

बदलापुर, जौनपुर । विधानसभा में इस समय विजली विभाग के जेई नसीम अख्तर अंसारी का एक गरम मसाला दिखाया जा रहा है जिसमें विधानसभा के वर्तमान विधायक रमेशचंद्र मिश्रा पर दोषारोपण कर के बिजली विभाग के हाईडील में एकत्रित हो कर धरना देकर अपने नापाक हरकत व अपनी नाकामी छूपाने की गजब की जुगत लगाई गई है, खुद गलती करें फिर धरने के रूप आकर जनप्रतिनिधि पर बेबुनियाद आरोप लगाए अपनी गलती छिपाएं यह एकदम अनुचित है।
अगर जनता की देखा जाए तो इनके नापाक चेहरे को साफ तौर पर देखा जा सकता है। क्षेत्र में लगातार लाईट काटाई व लुक्का छूप्पी का खेल दिखाया जा रहा उमस भरी गर्मी में लोग हायल व त्रस्त हैं,विधायक ने सख्ती व कड़ाई से पूछा व फटकार लगाई तो क्या गल किए। इन अधिकारियों की करतूतें लगातार क्षेत्र की जनता बताते आरही है अगर बिजली की एमरजेंसी समस्या हो या कोई जानकारी लेनी हो बिजली विभाग के ये क्रमचारी लोग फोन ही नही उठाते, अगर कभी उठ भी गया तो तमाम कानून व प्रतिक्रिया बता देगेगें इतना ही नहीं ज्यादा पूछ लिये तो बत्तमीजी से बात करते हैं जिससे फोन करनेवाला आवाक रह जाता है। एसे तमाम सिकायतें विधानसभा क्षेत्र के लोगों अनगिनत सुनने को मिला हैं। पर इन लोगों पर अंकुश लगाए कौन। विजली विभाग के यह लोग ना तो कभी फोन उठाते हैं और ना ही कभी फीडर पर दिखाई देते, कभी दिख गए भी फिडर पे तो काली कमाई के उद्देश्य से व भी फिडर का सौभाग्य है जिसमें महराजगंज के जेई अवधेश यादव महारथ हासिल किये हैं।
विधानसभा क्षेत्र में तमाम गरीबी व असहाय लोगो का फर्जी विजली का बिल जारी होगया है। पर इन लोगों को सिर्फ काली कमाई से मतलब होता है। खंभे की समस्या हो या तार की कभी भी विभीय ब्यवस्था नही किए हैं कमीशन मिले तो कुछ हिल डोल जाएंगे। इन लोगों को जरा सा उस पीड़ित परिवार का भी ध्यान नही रहता की सहयोग और रिपोर्ट विभाग मे भेजने से समस्या का समाधान हो सकता है जिसके लिए सरकार उन्हें बेतन दे रही है।
विधानसभा में तमाम बार ट्रासफार्मर जलने या बिजली के तार की समस्या पर गांव के लोग चंदा एकत्रित कर इन लोगों की जेब गरम करते हैं की समस्या दूर हो जाए तब पर भी हफ्तों लगा देते हैं।
अब सवाल यह कि बदलापुर विधानसभा के विधायक रमेशचंद्र मिश्रा ने लागातार जन सिकाते मिलने पर फटकार लगाया यह विल्कुल गलत नही किए विधानसभा की जनता उनके नेक काम से खुश थी, पर इतनी उदारता क्यों किए जो समझौता कर लिए करने देते एफआईआर क्या करते मुकदमा लड़ते इन लोगों पर विधानसभा के लोग अनगिनत मुकदमा करते जिसके असली हकदार हैं काली कमाई का मुकदमा होता,हादसा होने पर उसकी जिम्मेदारी का मुकदमा होता तब अकल ठिकाने आती पर रहम कर देना ठीक नहीं।
बल्कि असलीयत में भ्रष्ट जेईयों के उपर खुद कार्वाई करवानी चाहिए थी जिससे इनकी मनमानी कम होती ।
आम जनमानस की माने तो विधायक द्वारा फटकार लगाना बहुत जरूरी था व बहुत जनहित में था । वो इसलिए की कोई भी ब्यक्ति बदलापुर के जेई या महराजगंज के जेई अवधेश यादव को फोन लगा कर देखे फोन उठता ही नही,खुदा न खास्ता अगर किसी क्षेत्र में लाईट की कोई जटिल समस्या आ जाए कही तार गिर कर करेंट उतरने से कोई बड़ा हादसा होने को हो तो लोग कहा फोन करेगा आखिर इन लोगों को रखा क्यों गया है बेतन क्यों दिया जा रहा है।
जनता की देखें तो समझौता नहीं कार्वाई की जरूरत है एसे जिम्मेदारों पर जिन्हें महत्वपूर्ण जिम्मेदारी दी गई है और वे लोग बगैर दक्षिणा के कोई कार्य नही करते, इनकी मनमानी का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है की विधानसभा के विधायक पर भी संगठन के बैनर तले आरोप व दोषारोपण लगाया जा रहा है तो एक आम इंसान से मारपीट भी कर सकते हैं। सोचने वाली बात जब तक विधायक फीडर पे मौजूद रहे नाराजगी जाहिर किए फटकार लगाए तब तक जेई को अपनी कमी अपनी गलती नजर आ रही थी। जब चले गए और लापरवाही से सर्म महसूस होने लगा तब रौब बर्करार बनाने की मंशा लिए विभाग के लोगों के एकत्रीकरण से छवि खराब करने के नापाक इरादों से समझौते तक आगए और खुद जेई महोदय ने अपनी पीठ थपथपाई और धरावाहिक के छोटा भीम बन गए।
बिजली विभाग के इन जिम्मेदार से कोई पुछो विधानसभा में तमाम फर्जी बिल जारी हुआ है फर्जी कनेक्शन जारी हो गया है, महिलाएं, बच्चे व ब्यक्ति परेशान है लगातार कई सालों महिनों से इनके विभाग का चक्कर लगाकर थक गया है बताएं किसी भी ब्यक्ति के समाधान मे सहयोग किए हैं तो विधायक द्वारा इनपर रहम क्यों? जनता को एसे भ्रष्ट और मायावी अधिकारियों की जरूरत नहीं है बदलापुर से अपनी दुकान कही और जाकर चलाएं। रहम क्यों??

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें 

स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे

Donate Now

[responsive-slider id=1466]

लाइव कैलेंडर

October 2021
M T W T F S S
 123
45678910
11121314151617
18192021222324
25262728293031
error: Content is protected !!